Latest news
ਮੀਰਾ ਦੀ ਸ਼ਰਧਾ 'ਚ ਰੰਗਿਆ ਪੰਚਕੂਲਾ, ਅਗਰਵਾਲ ਭਵਨ 'ਚ 'ਸਰਵ ਸਮਾਜ ਬੰਧੂਤਵ' ਸਾਂਝੀਵਾਲਤਾ ਯਾਤਰਾ- 2022 ਦਾ ਸ਼ਾਨਦਾਰ ਸਵ... वरिष्ठ पत्रकार जसविंदर सिंह आजाद DMA के चीफ एडवाइजर व मोहित सेखड़ी सेक्रेटरी नियुक्त  ਐਨ.ਆਈ.ਟੀ.ਟੀ.ਟੀ.ਆਰ.-ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ ਵਿੱਚ ਆਯੋਜਿਤ ਹੋਵੇਗੀ ਮੀਡੀਆ ਚੌਪਾਲ-2022 इस बार एनआईटीटीटीआर-चंडीगढ़ में लगेगा मीडिया चौपाल ਧਾਰਮਿਕ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮਾਂ ਨਾਲ ਵਧਦੀ ਹੈ ਭਾਈਚਾਰਕ ਸਾਂਝ:ਰਣਜੀਤ ਸਿੰਘ ਖੋਜੇਵਾਲ ਅਕਾਲੀ ਦਲ ਵੱਲੋਂ ਗੁਰੂ ਗੋਬਿੰਦ ਸਿੰਘ ਜੀ ਦਾ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ ਪੁਰਬ 5 ਜਨਵਰੀ ਨਿਯਤ ਕਰਨ ਦੀ ਮੰਗ ’ਤੇ ਸੁਖਬੀਰ ਬਾਦਲ ਨੂੰ ਘੇਰਿਆ *ਪੱਤਰਕਾਰ ਅਜੀਤ ਸਿੰਘ ਬੁਲੰਦ ਡਿਜੀਟਲ ਮੀਡੀਆ ਐਸੋਸੀਏਸ਼ਨ ਦੇ ਜਨਰਲ ਸਕੱਤਰ ਬਣੇ, ਪ੍ਰਧਾਨ ਅਮਨ ਬੱਗਾ ਅਤੇ ਚੇਅਰਮੈਨ ਪ੍ਰਦੀ... ਸਾਂਝੀਵਾਲਤਾ ਯਾਤਰਾ-2022 ਦਾ ਡੇਰਾ ਸੰਤ ਗੋਪਾਲ ਨੰਦ ਜੀ ਅਗੰਮ ਪੁਰ ਵਿਖੇ ਭਰਵਾਂ ਸਵਾਗਤ ਸਾਂਝੀਵਾਲਤਾ ਯਾਤਰਾ-2022 ਦਾ ਭੀਖੀ ਵਿੱਚ ਭਰਵਾਂ ਸਵਾਗਤ, ਅੱਜ ਪੁੱਜੇਗੀ ਸੰਗਰੂਰ ਐਨ ਆਰ ਆਈ ਸਭਾ ਦੀ ਕਾਰਗੁਜ਼ਾਰੀ ਤੋਂ ਅਸੰਤੁਸ਼ਟ ਪ੍ਰਵਾਸੀ ਭਾਰਤੀ: ਨਾਪਾ

ਕੇਸਰੀ ਵਿਰਾਸਤ

हांसी पुलिस की नई पहल: स्कूली बच्चों के माध्यम से साइबर क्राइम पर लगेगी रोक

 

हांसी पुलिस के जवान स्कूलों में जाकर बच्चों को कर रहे जागरूक ।

हांसी । मनमोहन शर्मा

आए दिन बढ़ रहे साइबर क्राइम से जागरूक करने के लिए हांसी जिला पुलिस ने एक नई पहल शुरू की है जिसके माध्यम से वो स्कूलों में जाकर बच्चों के माध्यम से अभिभावकों को जागरूक कर रहे हैं। पुलिस की इस मुहिम से एक तरफ जहां अपराध पर अंकुश लगेगा वही अभिभावक भी जागरूक हो रहे हैं।

साइबर क्राइम पर अंकुश लगाने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक हांसी श्रीमती नितिका गहलोत के नेतृत्व में एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है ।
जिसके माध्यम से पुलिस की टीम स्कूलों में जाकर बच्चों को जागरूक कर रही है। इसी कड़ी में आज सहायक उप निरीक्षक जोगिंदर सिंह के नेतृत्व में बनाई गई टीम नारनौंद के राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पहुंची और अपराध से बचने के अनेक तरीके बच्चों को बताएं। ।


जोगेंद्र सिंह ने छात्र छात्रओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज देश मे जितना तेजी से डिजिटल लेन देन को बढ़ावा मिला है उतनी ही तेजी से ठगी के नए नए तरीके सामने आ रहे है ।
इनको सुलझा कर दोषियों को सजा दिलाना पुलिस के लिए बड़ी चुनोती हैं ।
खुद को ठगों से बचने के लिए जरूरी हैं जागरूकता व सतर्कता यदि आप स्मार्टफोन रखते है तो हम आपको कुछ ऐसे एप्लीकेशंस के बारे में बताएंगे जिनके माध्यम से ठग मिनटों में आपके खाते की रकम साफ कर रहे हैं।
ठग बैंक या किसी अन्य विभाग के अधिकारी बनकर कॉल करते हैं व आपसे कोई ऐसी एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए कहेंगे ऐप डाउनलोड होने के बाद वह आपसे आईडी व पासवर्ड पूछेंगे जो इन एप्लीकेशन में जरनेट होता है ।
जैसे ही आप आईडी , पासवर्ड शेयर करते हैं आपका मोबाइल पर ठग का नियंत्रण हो जाएगा एप्लीकेशन मोबाइल एवं कंप्यूटर दोनों पर काम करता है ।
और यह एप्लीकेशन आपके मोबाइल में इंस्टॉल करा देते हैं तो इसका मतलब यह है कि आपने अपने मोबाइल का ऑपरेटिंग सिस्टम उसके हाथ में दे दिया आपके फोन का पर्सनल डाटा लेकर अन्य एप्लीकेशन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ।
इसलिए किसी की भी अपना ओटीपी न, न बताए ।
सस्ते लोन के चक्कर मे आकर किसी के झांसे में न आये ।

विद्यालय के अध्यापक डॉ अजय लोहान ने हांसी जिला पुलिस की इस पहल के लिए जमकर तारीफ की। वहीं इस मुहिम को बच्चों व अभिभावकों के लिए वरदान बताया।
इस अवसर पर विद्यालय प्रभारी डॉ राजेश कुमार, राजेन्द्र डीपी, दलजीत, नीरज, लीलू राम, एबीआरसी उर्मिल, मेडम रीना, रानी, अंजना, सरिता,कीमती, पूनम, रिटा व ममता आदि मौजूद थे।

advertise with kesari virasat

Leave a Reply

Your email address will not be published.